उन्नाव : देश के चर्चित उन्नाव रेप मामले में एक बड़ी खबर फिर सामने आई है. बलात्कार के आरोप में जेल में बंद भाजपा से निष्कासित कुलदीप सिंह सेंगर मामले में खबर मिली है कि रेप पीड़िता के पिता का इलाज करने वाले डॉक्टर प्रशांत उपाध्याय की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है.

रेप केस पीड़िता के पिता को मारपीट के बाद जिला अस्पताल लाया गया था तब डॉक्टर प्रशांत उपाध्याय ही इमरजेंसी में थे और इन्होंने ही पीड़िता के पिता को जेल भेज दिया था. इस मामले पर विवाद होने के बाद जब इसकी सीबीआई जांच शुरू हुई तो डॉक्टर प्रशांत उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया गया था और लंबे समय बाद इनकी बहाली हुई थी. इस वक्त डॉक्टर प्रशांत फतेहपुर में तैनात थे.

हालांकि आज 13 जनवरी सोमवार को संदिग्ध परिस्थितियों में डॉक्टर प्रशांत की मौत हो गई. बता दें कि कल मंगलवार 14 जनवरी को इसी केस से जुड़े मामले में तीस हजारी कोर्ट में सुनवाई होनी है. रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टर प्रशांत उपाध्याय मधुमेह से पीड़ित थे.

पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को 2017 के उन्नाव रेप मामले में पिछले महीने दिल्ली की एक अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी. कोर्ट ने सेंगर पर 25 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया.

Share.

Comments are closed.