चर्चित उन्नाव रेप ममला मामला बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर बलात्कार आरोप लगाने वाली महिला समेत उनके दो रिश्तेदार और एक वकील का कार दुर्घटना हुआ। घटना रायबरेली के गुरबख़्शगंज थाना क्षेत्र में हुयी।

हादसे में दो महिलाओं की मौत हुई है. एक पीड़िता की चाची हैं और एक चाची की बहन हैं। उन्नाव बलात्कार पीड़िता और वकील की हालत गंभीर है और उनका लखनऊ ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है। हालाँकि घटना के बाद एक बार फिर उन्नाव कुलदीप सिंह सेंगर का नाम लोगो की जुबान है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने घटना को साजिश करार देते हुए कहा की या एक षड़यंत्र और घटना की जाँच की मांग किया है।

जबकि रायबरेली गुरबख्शगंज थाने के एसएचओ राकेश सिंह ने बताया कि ट्रक ड्राइवर मौके से फरार हो गया था जिसे बाद में हिरासत में ले लिया गया। उससे पूछताछ की जा रही है।जबकि स्थनीय लोगो का कहना है कि जिस ट्रक से घटना हुयी है उस ट्रक की नंबर प्लेट से भी छेड़छाड़ की गई है।

pic sources BBC

रायबरेली पुलिस अधीक्षक सुनील सिंह से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इसकी फॉरेन्सिक जांच कराई जा रही है और जैसा उन्नाव बलात्कार पीड़ित परिवार चाहेगा, वैसे एफ़आईआर दर्ज करके कार्रवाई की जाएगी।

उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक और भाजपा के नेता कुलदीप सिंह सेंगर इस कथित रेप कांड में फ़िलहाल जेल में हैं। कुलदीप सेंगर पर उनके गाँव माखी में घर के पास ही रहने वाली जिस नाबालिग़ लड़की ने बलात्कार का आरोप लगाया है आज वही युवती ‘हादसे’ में घायल हुई है। जबकि युवती के पिता की मौत पुलिस स्टेशन में हुयी थी।

2019 में जीतने के बाद साक्षी महाराज सेंगर से मिलने जेल जाते थे

इस मामले में एक विवाद तब भी हुआ था जब जून 2019 में भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने सीतापुर के ज़िला जेल में कुलदीप सेंगर से मुलाक़ात की थी। मुलाक़ात के बाद मीडिया से मुख़ातिब साक्षी महराज ने कहा था, “हमारे यहां के बहुत ही यशस्वी और लोकप्रिय विधायक कुलदीप सेंगर जी काफ़ी दिन से यहां हैं। चु व के बाद उन्हें धन्यवाद देना उचित समझा तो मिलने आ गया.”

Share.

Leave A Reply